Today OfferFree Coupon Codes, Promotion Codes, Discount Deals and Promo Offers For Online Shopping Get Offer

Important Highlights of Budget 2020 In Hindi - Download PDF

Important Highlights of Budget 2020 In Hindi - Download PDF

बजट 2020 -21 | महत्वपूर्ण बातें और हिंदी में बजट 2020

प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश किया गया.भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने  1 फरवरी सुबह 11 बजे संसद में बजट 2020 (Budget 2020 In Hindi ) पेश किया. बजट 2020-21 के बजट को मूलभूत संरचनात्मक सुधार तथा समावेशी विकास के स्तम्भ पर तैयार किया गया है।इमकम टैक्स में छूट, रोजगार के अवसर पैदा करने और आर्थिक विकास की रफ्तार तेज करने से जुड़ी घोषणाओं के साथ ही लोककल्याणकारी नीतियों की घोषणा की. 

Important Highlights of Budget 2020 In Hindi - Download PDF



आम बजट 2020 और यूनियन बजट 2020 की पूरी जानकारी.

2020 के बजट को मूलभूत संरचनात्मक सुधार तथा समावेशी विकास के स्तम्भ पर तैयार किया गया है।

  • संरचनात्मक सुधार
संरचनात्मक सुधार में IBC (Insolvency and Bankruptcy Code) के द्वारा बैंकों का पुनः पूंजीकरण (recapitalization) करना शामिल हैं। 2014 में देश का ऋण जीडीपी का 52.2% था, 2019 में यह कम होकर 48.7% रह गया है।

GST सुधार

  1. GST के अंतर्गत प्रत्येक घर में औसतन 4% की बचत हो रही है।
  2. 2019-20 में 60 लाख नए करदाता  जुड़े, जबकि कुल 40 करोड़ रीटर्न फाइल किये गये, 800 करोड़ इनवॉइस अपलोड किये गये।
  3. इससे इंस्पेक्टर राज प्रणाली समाप्त हो गयी है। इसके तहत राज्य तथा राष्ट्रीय परमिट (सड़क कर, फिटनेस प्रमाणपत्र, प्रदूषण प्रमाणपत्र) को हटा दिया गया है।
  • समावेशी विकास
1950 के दशक में वृद्धि दर 4%, 1980 में 6% तथा 2016 में 7.4% रही। 2014-19 के दौरान मुद्रास्फीति दर 4.5% रही। 2006-16 के दौरान 271 मिलियन लोग निर्धनता से बाहर  आये।

बजट 2020-21 की थीम


2020 बजट को तीन थीम्स पर प्रस्तुत किया गया

  • आकांक्षी भारत : स्वास्थ्य, शिक्षा तथा बेहतर नौकरियों के मामले में समाज के सभी तबकों के लिए बेहतर स्तर। इस थीम के तहत कृषि, सिंचाई, ग्रामीण विकास, शिक्षा, जल तथा स्वच्छता पर फोकस किया गया।
  • आर्थिक विकास : अर्थव्यवस्था में सुधार, निजी सेक्टर के लिए उचित कार्यक्षेत्र उपलब्ध करवाना। इस थीम के अंतर्गत विनिर्माण सेक्टर, उद्योग तथा कौशल विकास पर फोकस किया गया।
  • केयरिंग सोसाइटी : इसके अंतर्गत पर्यटन, कनेक्टिविटी, कमज़ोर तथा बुजुर्गों पर फोकस किया गया।

Post a Comment

0 Comments